मंगलवार, 07 जुलाई, 2015 | 10:20 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    बरमूडा ट्राइएंगल की तरह हो चुका है व्यापमं, राज जानने वाला नहीं बचता जिन्दा ग्वालियर-चंबल से जुड़े हैं व्यापमं के तार, इलाके से अब तक 21 लोगों की मौत ढाई करोड़ का फ्रॉड कर बन गया था बाबा, दस साल बाद चढ़ा सीबीआई के हत्थे व्यापमं में हो रही मौतों पर बोलीं उमा भारती: मंत्री हूं लेकिन फिर भी लगता है डर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने विश्वासपात्रों को पार्टी में दी महत्वपूर्ण भूमिका यूपी के बाराबंकी में पुलिसवालों ने थाने में महिला को जिंदा फूंका वनडे मैचों में 5000 रन बनाने वाली दुनिया की दूसरी क्रिकेटर बनीं मिताली चीन ने विज्ञापन में दिखाई भारतीय शहरों में गंदगी  VIDEO: आकाशवाणी दिल्ली परिसर में सिपाही पर गोलीबारी कुंआरी मां बन सकती है बच्चे की अभिभावक
एक्शन फिल्मों के दौर में एक्शन से दूर संजय
मुंबई, एजेंसी First Published:28-04-12 03:45 PM
Image Loading

अभिनेता संजय दत्त ने उस वक्त एक्शन फिल्में कीं जब एक्शन फिल्मों का दौर नहीं था, 90 के दशक में ज्यादातर हास्य फिल्में बन रही थीं, उस दौर में भी उन्होंने 'खलनायक', 'वास्तव' और 'दस' जैसी एक्शन प्रधान हिट फिल्में दीं। इन फिल्मों में संजय दत्त ने अपनी जबर्दस्त अभिनय क्षमता भी दिखाई।
   
विजेता, ताकतवर, कब्जा और हथियार जैसी एक्शन से भरपूर फिल्में करने वाले संजय ने कहा कि वह दौर था जब अजय, अक्षय, जैकी, सनी और मैं एक्शन हीरो कहे जाते थे और अचानक ही हम सभी के लिए ऐसा भी दौर आया जब हमने कोई एक्शन फिल्में नहीं की केवल कॉमेडी फिल्मों में काम किया। मैंने फिर वापसी की। यह काफी चौंकाने वाला था।
   
80 के दशक के उत्तरार्ध में और 90 के दशक के पूर्वार्ध में ऐसा भी समय रहा जब सनी देओल, अजय देवगन, जैकी श्रॉफ ने दर्शकों को काफी हैरानी में डाला। अक्षय तो 'मोहरा', 'संघर्ष', 'आंखें' और 'खिलाड़ी' सीरीज की फिल्मों से बॉलीवुड के खिलाड़ी बन गए। जबकि सनी ने 'अर्जुन', 'बेताब', 'घायल', 'जिद्दी' और 'दामिनी' जैसी फिल्मों में दमदार अभिनय किया।
   
लेकिन फिर हास्य फिल्मों का दौर चला। हालांकि इस 52 वर्षीय अभिनेता को एक्शन फिल्मों के जरिए बॉलीवुड में वापसी करने से खुशी है।

दत्त कहते हैं कि उस समय मैं जैकी, सनी या अजय से बातचीत करता था और हम यह देखकर चकित होते थे कि एक्शन का दौर कहां चला गया। सबसे अच्छी बात यह थी कि दक्षिण की फिल्मों ने एक्शन को नहीं भूला था। यही वह बात है जो दक्षिण की फिल्मों को ज्यादा समय तक याद रखने वाली बनाती है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingवनडे मैचों में 5000 रन बनाने वाली दुनिया की दूसरी क्रिकेटर बनीं मिताली
भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने सोमवार को एकदिवसीय क्रिकेट में 5000 रन पूरे कर लिए। इस मुकाम पर पहुंचने वाली वह भारत की पहली और विश्व की दूसरी बल्लेबाज हैं।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड