बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 23:23 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने याकूब मेमन की दया याचिका खारिज की।
एक्शन फिल्मों के दौर में एक्शन से दूर संजय
मुंबई, एजेंसी First Published:28-04-2012 03:45:08 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

अभिनेता संजय दत्त ने उस वक्त एक्शन फिल्में कीं जब एक्शन फिल्मों का दौर नहीं था, 90 के दशक में ज्यादातर हास्य फिल्में बन रही थीं, उस दौर में भी उन्होंने 'खलनायक', 'वास्तव' और 'दस' जैसी एक्शन प्रधान हिट फिल्में दीं। इन फिल्मों में संजय दत्त ने अपनी जबर्दस्त अभिनय क्षमता भी दिखाई।
   
विजेता, ताकतवर, कब्जा और हथियार जैसी एक्शन से भरपूर फिल्में करने वाले संजय ने कहा कि वह दौर था जब अजय, अक्षय, जैकी, सनी और मैं एक्शन हीरो कहे जाते थे और अचानक ही हम सभी के लिए ऐसा भी दौर आया जब हमने कोई एक्शन फिल्में नहीं की केवल कॉमेडी फिल्मों में काम किया। मैंने फिर वापसी की। यह काफी चौंकाने वाला था।
   
80 के दशक के उत्तरार्ध में और 90 के दशक के पूर्वार्ध में ऐसा भी समय रहा जब सनी देओल, अजय देवगन, जैकी श्रॉफ ने दर्शकों को काफी हैरानी में डाला। अक्षय तो 'मोहरा', 'संघर्ष', 'आंखें' और 'खिलाड़ी' सीरीज की फिल्मों से बॉलीवुड के खिलाड़ी बन गए। जबकि सनी ने 'अर्जुन', 'बेताब', 'घायल', 'जिद्दी' और 'दामिनी' जैसी फिल्मों में दमदार अभिनय किया।
   
लेकिन फिर हास्य फिल्मों का दौर चला। हालांकि इस 52 वर्षीय अभिनेता को एक्शन फिल्मों के जरिए बॉलीवुड में वापसी करने से खुशी है।

दत्त कहते हैं कि उस समय मैं जैकी, सनी या अजय से बातचीत करता था और हम यह देखकर चकित होते थे कि एक्शन का दौर कहां चला गया। सबसे अच्छी बात यह थी कि दक्षिण की फिल्मों ने एक्शन को नहीं भूला था। यही वह बात है जो दक्षिण की फिल्मों को ज्यादा समय तक याद रखने वाली बनाती है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingपाकिस्तान को क्लीन स्वीप से रोकने उतरेगा श्रीलंका
श्रीलंका कल से यहां शुरू हो रही दो मैचों की टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सीरीज में जीत दर्ज करके पाकिस्तान को क्लीन स्वीप करने से रोकने के इरादे से उतरेगा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड