बुधवार, 22 अक्टूबर, 2014 | 15:05 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
पाकिस्तान ने फिर किया सीज़फायर का उल्लंघनजम्मू के रामगढ़ में पाक की फाइरिंग
क्लिंटन-ममता मुलाकात पर येचुरी ने ली चुटकी
नयी दिल्ली, एजेंसी First Published:08-05-12 06:52 PMLast Updated:09-05-12 12:01 AM
Image Loading

अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात पर माकपा ने कहा कि अगर केन्द्र सरकार को अपने सहयोगियों को मनाने के लिए अमेरिकी मदद की जरूरत पड़े तो इससे दयनीय स्थिति और कुछ नहीं हो सकती है।

माकपा के वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी रिटेल क्षेत्र में एफडीआई का ममता द्वारा विरोध किये जाने के बारे में किये गये सवाल का जवाब दे रहे थे। इस मुद्दे को अमेरिकी विदेश मंत्री ने भारत में उठाया है।

उन्होंने कहा कि यदि ऐसी स्थिति आती है कि सरकार को अपने सहयोगियों को मनाने के लिए या सत्ताधारी गठबंधन में समस्याओं के हल के लिए अमेरिकी मदद की आवश्यकता पड़े तो देश की इससे अधिक दयनीय स्थिति नहीं हो सकती। इससे अमेरिका पर हमारी निर्भरता का पता चलता है।

उन्होंने कहा कि सामान्य प्रोटोकाल होता है कि उच्च स्तर की कोई विदेश यात्रा केन्द्र सरकार के साथ बैठकों के साथ शुरू होती है और फिर राज्यों के साथ बैठक होती है लेकिन हिलेरी की यात्रा बंगाल से शुरू हुई हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि ऐसी यात्रा का कार्यक्रम तय करना केन्द्र सरकार का विशेषाधिकार है।

येचुरी ने अमेरिका के इशारे पर काम करने के लिए संप्रग सरकार की निन्दा करते हुए कहा कि पिछले तीन महीने में ईरान से भारत की तेल खरीद में काफी गिरावट आयी है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी दबाव में भारत ने भारत-ईरान गैस पाइपलाइन की परियोजना छोड़ दी, जो कच्चे तेल से कहीं सस्ते इधन का रास्ता हो सकता था। यह बात स्वीकार्य नहीं है क्योंकि यह भारत के हितों के खिलाफ है।
 
 
 
टिप्पणियाँ