गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 22:57 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
पीएम करेंगे बठिंडा रिफाइनरी का उद्घाटन
बठिंडा, एजेंसी First Published:27-04-12 12:34 PM
Image Loading

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह चार अरब डॉलर की लागत से बनी रिफाइनरी का शनिवा को उद्घाटन करेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र की हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्प (एचपीसीएल) तथा स्टील क्षेत्र के दिग्गज लक्ष्मी एन मित्तल की निवेश कंपनी की संयुक्त उद्यम इकाई ने यह रिफाइनरी बनायी है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एचपीसीएल-मित्तल एनर्जी लि. (एचएमईएल) की 90 लाख टन क्षमता वाली रिफाइनरी 28 अप्रैल को देश को समर्पित की जाएगी। इस सिलसिले में शहर के समीप फुलोखारी गांव में 11.30 बजे पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया है।

पेट्रोलियम मंत्री एस जयपाल रेड्डी तथा पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के समारोह में उपस्थित रहने की संभावना है। सूत्रों ने बताया कि आर्सेलर मित्तल के चेयरमैन तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी मित्तल तथा एचएमईएल के चेयरमैन एसराय चौधरी तथा एचपीसीएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक भी समारोह में उपस्थित रहेंगे।

मित्तल ने बठिंडा रिफाइनरी के जरिये पहली बार कच्चे तेल की रिफाइनरी में कदम रखा है। अबतक सार्वजनिक क्षेत्र की तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम (ओएनजीसी) के साथ उनकी संयुक्त उद्यम इकाई तेल एवं गैस उत्खनन कार्य में लगी थी।

एचपीसीएल तथा मित्तल एनर्जी इनवेस्टमेंट पीटीई लि. दोनों की रिफाइनरी में 49-49 प्रतिशत हिस्सेदारी है जबकि दो प्रतिशत हिस्सेदारी वित्तीय संस्थानों के पास है। इस रिफाइनरी के जरिये उत्तर भारत में ईंधन की बढ़ती जरूरतों को पूरा किया जाएगा।

 
 
 
टिप्पणियाँ